.

Most popular social media viral Love Shayari in hindi

लव शायरी 

Most popular social media viral Love Shayari in hindi
Most popular social media viral Love Shayari in hindi 
क्यों इन निगाहों ने भीड़ से भरे जहां में सिर्फ तुम्हें अपना पाया है
आखिर बड़े दिनों बाद मोहब्बत इजहार करने का दिन आया है
 मोहब्बत के इजहार करने के वक्त  केवल मैं हूं और केवल तुम हो।
बाकी पूरा जहां आपस में गुमसुम हो।



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------



तेरा ना आना, ना दिखना अब दुखता हैं
कियु अब भी ये दिल तेरे आगे झुकता है
क्यों हर बात तुम्हें को बताते हैं
क्यों सारा जहां घूमने के बाद थक कर सिर्फ तुम्हारे पास आते हैं



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------



उस दिन मैं तुम्हें अपनी बाहों में भर लूंगा
इस दिल में अपनी मोहब्बत का इजहार तुमसे कर लूंगा
 हमारे इस रिश्ते को कोई एक नाम देना चाहता हूं
तुम्हें छूकर तुम्हारी मौजूदगी को महसूस करना चाहता हूं



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------



आँखे बंद करते ही तुम याद आते हो
रात की हसीन चाँदनी तुम ही तो लाते हो
कैसे कहूं कि मैं तुम्हारा हो गया हूं
अब मैं तुम्हारा सारा का सारा सिर्फ तुम्हारा हो गया हूं
तुम मेरी बेपनाह मोहोबत की  चाहत हो
 जिस दिल को सुकून आए वो राहत हो



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------




जो अपनी बाहों में हमें छुपा दे
जो अपनी समुद्र जैसी आंखों में डूबा दे
कब आएगा वह दिन जिस दिन हम अपने दिल  से वह 3 जादुई शब्द कह पाएंगे
अब तुम्हारे बिन और दूर नहीं रह पाएंगे



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------



फिर से खुली बाहों में समा जा
इस वैलेंटाइन डे दिन पर घुटनों पर बैठे हम और तू हमें गुलाब का फूल थमा जा



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------



ता ही नही चला कि हम कब तुम में जा मिले
और कब मिलेगी हमारी मोहब्बतों को मंजिले



----------------------------------------------------------------------------------------------------------------



.अक्सर बेवजह तेरा ख्याल आता हैं
तो कभी बेवजह तेरा चेहरा याद कर मन अक्सर शांत हो जाता है
तुझे देख ना पता चलता कि कब रात होती हैं
तुझे देख तेज धूप में भी रात होती हैं



----------------------------------------------------------------------------------------------------------------



यह भी अल्फाजों को अच्छा सजा देता है
छेड़ लो अपना कोई किस्सा या  अपनी दिल की बात तो यह उसका अक्सर मजा लेता है



-----------------------------------------------------------------------------------------------------------------




मुझे इसका लोगों की बात को अपने दिल में बिठा देना जरा सा भी अच्छा नहीं लगता है
लेकिन यह हर बात का ख्याल जरूर रखता है



------------------------------------------------------------------------------------------------------------------




अक्सर मैं सिर्फ इसके लिए ही लिखती हूं यह मेरे दर्द में रह लेता है
बस इसी के लिए लिखना सीखा है यह अक्सर मेरे अल्फाजों को बयां कर खुद के अल्फाज है यह कह लेता है
ना जाने किस अंजान सफर मैं हम मिले और ना जाने यह सफर कब होने के बाद दिल कहां खुश होगा
लेकिन जिस दिन भी सफर खत्म होगा तेरे ना होने पर दिल मायूस होगा



--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------




तुझे आज अपने बाहों में भर लूं हर दिन हर रात बस तेरे नाम कर लूं
और बरसात की बूंदों में सिर्फ इस बार मोहब्बत ही बरसे
 बस इस मोहब्बत को पाने के लिए कोई नहीं तरसे



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------




हर पल जब आंखें बंद करता हूं तो सिर्फ अपनी मोहब्बत नजर आती है जिस वक्त दीदार होता है अपने यार का हाय उस समय इन आंखों को शर्म सी आ जाती है



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------



सच बोलने के लिए जुबान दी है और मोहब्बत जाहिर करने के लिए तरसी हुई आंखें दी है



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------




हर कहानी के अंत में मोहब्बत हो जाती है दो आंखें अक्सर 4 हो जाती है किसी की हसीन सपनों में अक्सर यह आखिर सो जाती है अक्सर किसी के ख्यालों में यह आंखें खो जाती है



----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------




जितने मोहब्बत करने वाले होंगे उतने मोहब्बत से दूर करने वाले होंगे मोहब्बत का तो क्या है मोहब्बत एक ना एक दिन पूरी हो जाएगी और मोहब्बत से दूर करने कि इस जहां की ख्वाइश अधूरी हो जाएगी



-----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------



बात नहीं कर सकते तो सवाल पूछ लिया करो फिर भले ही जवाब आए या ना आए
लेकिन सामने से कोई याद नहीं करता यह ख्वाब फिर भूले से भी ना आए



-----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------




समझ जाने के बाद बस इतना करो कि मत जताओ कि समझ में आ गया क्योंकि बहुत बुरा लगता है कि हमारा इशारा उसे समझा गया और वो समझ कर भी चुप है कमबख्त खुद तो मोहब्बत में नहीं उलझा, लेकिन हमें उलझा गया



------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------




अब लिखा तो साफ है अब समझने के लिए दिमाग नहीं दिल लगाएगा और ना समझ में आए तो फिर फोन लगाइएगा



-----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------




दिल और बटवा संभाल के  खोलिए गा क्योंकि जब भी यह दोनों खोलते हैं अनजान भी अपना लग जाता है लेकिन जब वापस भरने की बारी आती है तू अपना भी सपना लगने लग आता है



-----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------




शायरी और शायद दोनों कमाल के होते हैं क्योंकि जब शायर की शायरी कोई और करता है तब तो मामला हिट जाता है
लेकिन शायद जब शायरी करता है तब पत्नी से पीट जाता है



Post a Comment

0 Comments