.

"जब वो" love poem in hindi

"जब वो"

"जब वो" love poem in hindi
"जब वो" love poem in hindi

जब वो कुछ कहती है
तब यह दिल सुनना चाहता है उसके बगैर सुकून नहीं आता है
मेरी चाहत उसके बारे में  लिखना चाहती है
आंखों में अजब सी रोशनी भर आती है
जब वो मीठी मीठी बातें कर जाती है
पता नहीं रात दिन में कब ढल जाती है
जब उससे मिलने का पल आता है
जब वो पलके छुपाती है
यह देख चेहरे पर मुस्कुराहटआ जाती है
जब वो पलके उठाती है तो यह पलके उसकी और थम जाती है

Post a Comment

0 Comments