.

हॉन्टेड स्टोर रूम कहानी अंतिम पार्ट । story on haunted store room last part

"हॉन्टेड स्टोर रूम कहानी अंतिम पार्ट"
हॉन्टेड स्टोर रूम कहानी अंतिम पार्ट । story on haunted store room last part

"आप लोगों से निवेदन है कि इस कहानी का यह आखिरी भाग पढ़ने से पहले इस कहानी का  पार्ट 1,  पार्ट 2, पार्ट 3 , पार्ट 4 पढ़ लीजिए। तभी आपको इस कहानी का यह आखिरी भाग समझ आएगा।"

तभी अचानक पीटर के कमरे से आवाज आई तो जेम्स ने मुँह को उस और हल्का घुमाते हुए रुचि को वहाँ जाने का इशारा किया। रुचि ने हाँ में सर हिलाया और धीरे कदमो के साथ वहाँ चली गई और रुचि ने पीटर के दरवाजे का हल्का सा धक्का देते हुए उसका दरवाजा रास्ता खोला और ताकि करने लगी तभी रुचि ने देखा कि पीटर किसी से फोन पर बात कर रहा है।
पीटर ने चिल्लाते हुए फोन पर कहा "देखो मैंने तुम्हारा काम कर दिया। मुझे नहीं पता मुझे मेरे पैसे चाहिए।"
तभी फोन से आवाज आई "ठीक है कल रात को तुमको पैसे मिल जाए।"
यह सुन पीटर ने कहा 'ठीक है कल रात मुझे पैसे मिल जाना चाहिए।"
तभी पीटर  की नजर दरवाजे पर पड़ी पीटर तेजी से फोन रखा और फौरन से दरवाजे की तरफ गया दरवाजा खोलने पर पीटर ने रुचि को देखा। उसने सख्त भरे अंदाज में पूछा "क्या आप मेरी बातें सुन रही थी?"
यह सुनने के बाद रुचि  ने कहा "बातें? कौन सी बातें? मुझे तो कॉफी पीने की तलब हो रही थी। इसलिये मैं तो कॉफी बनाने जा रही थी। तभी मैं यह पूछने आई थी कि क्या आप भी कॉफी पीयेगी। क्या आप के लिये भी बना दूँ?"
यह सुन ने पर पीटर ने  कहा "जी नहीं और आप से रिक्वेस्ट है कि अगर आपको मुझसे कुछ काम हो तो आप मुझे पहले ही बता दीजिएगा। इस तरह से मुझे डिस्टर्ब नहीं कीजिएगा।"
यह सुन रुचि ने कहा "माफ कीजिएगा।"
यह कहते हुए रुचि वहां से चली गई। रुचि  जेम्स के पास आई। रुचि ने कहां "मै उसकी पूरी बात नहीं सुन सकी।उसने मुझे देख लिया।"
जेम्स ने हल्के से गुस्से में कहा "शीट ,हमें उसकी बात जानना बहुत जरूरी था। वैसे तुमने फिर भी क्या सुनो?"
यह सुनने के बाद रुचि ने कहा कि "वह किसी से पैसों के बारे में बात कर रहा था और कल रात को किस से पैसे लेने वाला है।"
यह सुनने के बाद जेम्स ने कहा "वाह! यह हुई ना कुछ अच्छी खबर। तुम फौरन प्लान बी शुरू कर दो"
यह सुनने के बाद रुचि ने कहा "ठीक है।"
और वह वहाँ से चली गई। थोड़ी देर बाद रूचि की चिल्लाने की आवाज आई आवाज सुनने के बाद पीटर और श्रद्धा भागते हुए रुचि के पास गए। पीटर ने हैरान होते हुए पूछा "क्या हुआ?" रुचि ने डरते हुए  कहा "वहाँ पर है।"
यह सुन पीटर ने कहा "क्या?"
रुचि ने कहा "कॉकरोच।"
यह सुनने के बाद पीटर ने गुस्से में कहा "यह क्या मजाक है?"
यह कहते हुए पीटर गुस्से में मुँह फैलाते हुए वहाँ से चला गया और श्रद्धा भी चली गई। तभी जेम्स आया वह खुश नजर आ रहा था। यह देख रुचि ने जेम्स ने कहा "क्या तुमने तुम्हारा काम किया?"
 जेम्स ने कहा "हां मैंने पीटर का फोन चेक कर लिया वह जिस से बात कर रहा था वह जॉन था।"
यह सुन रूचि ने कहा "क्या जॉन से बात कर रहा था यह तो वही है ना जिसका नाम उस प्रॉपर्टीज के पेपर पर लिखा था और उस तस्वीर के अंदर भी पीटर के साथ भी यही खड़ा था और किसी के हाथ पर जॉन नाम का टैटू बना हुआ है।"
यह सुनने के बाद जेम्स ने कहा "हां जॉन, पर मैने ऐसा इंतजाम किया हैं कि जॉन खुद आएगा।"
फिर रुचि ने कहा "क्या तुमने वो वाला काम कर दिया।"
 यह सुनने के बाद जेम्स ने कहा "हां मैंने वो वाला काम भी कर दिया। आज रात ही छुपे हुए राज से पर्दाफाश हो जाएगा।"
जैसे ही रात हुई तो जेम्स ,पीटर, रुचि और श्रद्धा वापस उस घर में चले गए। रात काफी हो चुकी थी सभी वहां जाकर सो गए। रुचि और श्रद्धा बेडरूम में सो गए। जेम्स बैडरूम के पास वाले रूम  में सो गया और पीटर बेडरूम के पास वाले हॉल के सोफे पर सो गया। तभी अचानक से किचन की लाइट जली पीटर लगा कि हो सकता है। किसी ने पानी पीने के लिए जलाई होगी। यह सोचते हुए वह करवट बदल कर सो गया। थोड़ी देर बाद वह लाइट बंद हो गई। लेकिन अचानक लाइट फिर जल गई। यह देख पीटर हैरान हो गया। वह किचन में गया। किचन में एक सफेद लिबाज में एक महिला खड़ी थी।जिसके बाल खुले हुए थे। उसके हाथ मे ख़ंजर था। वह कुछ काट रही थी। यह देख पीटर ने कहा "कौन हैं? रुचि, श्रद्धा?"
यह सुन वह महिला रुक गई। यह देख पीटर को जान में जान आई। तभी उस ने पीटर पर हमला कर दिया। उसका चेहरा बहुत ही भयानक था।उसने चिल्लाते हुए चाकू दिखाते हुए कहा "खूनी, तुम खूनी हो। अपना गुनाह कबूल करो।"
यह सुनकर पीटर ने कहा "हां मैं खूनी हूं मैंने शरद का खून किया है लेकिन इस सबके पीछे जॉन और श्रद्धा का हाथ है। वह दोनों आपस में प्यार करते थे। यह धर जॉन के नाम पर है। शरद के मरने पर उसके इंश्योरेंस के पैसे श्रद्धा को मिलेंगे और शरद ने घर को खरीदने के लिए एक बहुत बड़ा लोन लिया था और उसके पैसे भी  घर को खरीदने के नाम पर श्रद्धा और जॉन ने धोखे से ले लिए। एक्सीडेंट की रात को शरद बच गया था। लेकिन उसके ऊपर पेट्रोल छिड़ककर मैंने और श्रद्धा ने उसको गाड़ी समेत जला दिया।
 इस काम के लिए मुझे जॉन ने पैसे देने का वादा किया हैं।"
तभी जेम्स वहाँ किसी को पकड़ कर लाया और कहा "ये लो पीटर तुमारा दोस्त जॉन।"
जेम्स की आवाज सुन श्रद्धा की नीद भी खुल गई। वह भी भागते हुए किचन में आई। श्रद्धा ने जैसे ही जॉन को देखा तो वह हैरान रह गई उसने कहा "तुम यहां क्यों आए हो तुम्हें मैंने कहा था ना कि तुम यहां मत आना।"
यह सुन जॉन ने कहा "मैं यहां आना ही नहीं चाहता था। लेकिन मुझे तो इस पीटर ने मैसेज कर कहा था कि अगर मैंने उसको आज के आज पैसे नहीं दिए तो वह यह राज सभी को बता देगा।"
यह सुन पीटर ने कहा "मैंने तुम्हें कोई मैसेज नहीं किया है।"
यह सुन जेम्स ने हंसते हुए कहा "तुम्हारे फोन से मैंने ही जॉन को मैसेज किया था और जो अभी भूत बनकर तुम्हारे ऊपर चढ़ी है वह और कोई नहीं रुचि हैं।"
यह सुन रुचि ने अपना चेहरा साफ किया और जेम्स के पास खड़ी हो गई।
यह सब सुन श्रद्धा ने जेम्स से कहा "आखिर तुम्हें कैसे पता चला कि शरद का एक्सीडेंट नहीं मर्डर हुआ है?" यह सुनकर जेम्स ने कहा "तुमसे मिलने के बाद मैंने रुचि को दो जगह देखने को कहा था। पहली  वह एक्सीडेंट वाली जगह गई। वहां पर शरद की बॉडी पर रूचि को पेट्रोल के ड्रेसेस मिले थे और वहां से होते हुए वह इस घर में आई थी। जहां उसे इस सोफे के नीचे यह नींद की गोली मिली। इन सबूत को देखने के बाद हम समझ गए कि तुम भी इस सब में शामिल हो।"
जेम्स ने जॉन की तरफ देख कर कहा "लेकिन अभी भी एक राज छुपा हुआ है। इस घर में एक नौकरानी और उसकी दो बेटियों की मौत हुई थी। इसके बारे में तुम क्या जानते हो?"
यह सुन जॉन ने कहा "इन सब के पीछे एंथोनी का हाथ है। वह मेरे अंकल है जो कि श्रद्धा की लाइब्रेरी के इंचार्ज थे। जब घर में रिनोवेशन का काम हो रहा था। तब मैंने उन्हें देखा था कि वह हमारी नौकरानी मेरी को पहले उन्होंने उसके सर पर हमला किया। जिससे मेरी खून से लथपथ हो गई। फिर बाथरूम के अंदर दफना  रहे थे और उन्होंने ही उसके दो बच्चों को ऊपर वाले स्टोर रूम के अंदर एक संदूक में बेहोश कर बंद कर दिया था। जिस से धुटन की वजह से वे तड़प-तड़प के मर गई। मैंने उन्हें ब्लैकमेल किया तो उन्होंने यह राज छुपाने के लिए यह घर मेरे नाम कर दिया और वह खुद यहां से भाग गए।"
यह सुन जेम्स ने कहा "जब इस घर में आए तो हमें मेज पर पड़े लैंडलाइन फोन के नंबर पैड पर कुछ नम्बर पर खून के छींटे पड़े थे। हमने उस नंबर पर फोन लगाया तो तुम्हें पता है वह नंबर किसका था? वह नंबर एंथोनी का था। उसको हमने ब्लैकमेल कर यहां बुलाया हैं तुम सब को  हमारा साथ देना पड़ेगा। थोड़ी देर में वह यहां  आने वाला है। जब तक तुम किसी तरह का हंगामा नहीं करोगे। जिससे उसको शक हो जाएगा और फिर वह यहां से बच निकल जाए।"
यह सुनकर जॉन ने कहा "हम तुम्हारा साथ देंगे। लेकिन उसके बदले में हमें क्या मिलेगा?"
यह सुन जेम्स ने कहा "ठीक है हम तुम्हें छोड़ देंगे। जैसी ही हमें एंथोनी मिल जाएगा। हम तुम सब को छोड़  देंगे।"
यह सुनकर जॉन पीटर और श्रद्धा खुश हो गए और  साथ देने के लिए तैयार हो गए। सभी कमरों में चले गए। तब रुचि ने कहा "क्या हम इन लोगों को छोड़ देंगे?"
यह सुन जेम्स ने कहा "नही नही, यह तो बस सिर्फ एक चाल थी। जिस से हम एंथोनी को पकड़ पाएं।"
यह सुन रुचि ने कहा "वाह!"
तभी थोड़ी देर बाद अचानक दरवाजे पर किसी की दस्तक हुई आवाज सुनकर सभी उठ गए। जेम्स ने सभी को कहां "कोई भी एंथोनी के सामने नहीं आएगा।"
तभी  सभी ने सर हां में हिलाया। जेम्स ने रुचि से कहा "देखो तुम सभी को पीछे के दरवाजे से निकाल दो और पीछे अपनी फोर्स खड़ी कर देना। जिससे कि पीटर जॉन और श्रद्धा भाग नहीं पाए। जब तक मै तुम्हे कोई इशारा नहीं करुँ। तब तक तुम मत आना।"
रुचि ने हाँ में सर हिलाया और सभी को पिछले दरवाजे से बाहर निकाल दिया औऱ वह कोने में छुप गई। जैसे ही जेम्स ने दरवाजा खोला तो एंथोनी के हाथों में पिस्तौल थी और उसने पिस्तौल जॉन के ऊपर तान दी और  कहा "तुम्हें कैसे पता कि इस घर में मेरी और उसके दो बच्चों की मौत हुई और क्या सबूत है तुम्हारे पास? वह सबूत मुझे दे दो। वरना फिर मैं तुम्हें मार दूंगा। मैं मेरी से प्यार करता था।
लेकिन मेरी को सिर्फ अपने बच्चों से प्यार था। इसीलिए मैंने अपनी दूसरी नौकरानी रूसी को बोल मेरी के  बच्चों को संदूक में डाल ऊपरवाले स्टोर रूम में बंद कर दिया। जिससे  वहां वे घुट घुट कर मर गए। जैसे ही मैंने यह सब बात मेरी को बताई कि वह अब सिर्फ मुझसे ही प्यार कर सकती हो।
अब उसकी और मेरे बीच में कोई नहीं है  बौखला गई। उसने मुझ पर हमला करने की सोची इसीलिए मैंने उसे अपने बाथरूम में दफना दिया।"
यह सब सुनकर जेम्स ने कहा "तुमने बहुत बड़ी गलती की है मेरी की आत्मा ने रूसी को मार दिया हैं। अब वह तुम्हे मारना चाहती हैं।"
यह सुनकर एंथोनी ने कहा "मुझे कोई नहीं मार सकता है।"
तभी अचानक से रुचि आई और उसने कहा "अपना हथियार नीचे फेंक दो। मैंने तुम्हारा बयान रिकॉर्ड कर दिया है और मैं क्राइम इन्वेस्टीगेशन ऑफिसर हूँ। इतना ही नहीं तुम्हारा रिलेटिव जॉन और उसके प्रेमिका श्रद्धा और उसका दोस्त पीटर हमारी हिरासत में हैं।"
यह सुन जेम्स ने रुचि से कहा "तुम्हे कहा था ना तुम मत निकलना। तब तक मैं ना कहूं।"
यह सब सुन एंथोनी ने कहा "अच्छा तो यह सब मेरे खिलाफ साजिश थी।"
 यह कहते हुए एंथोनी ने अपनी पिस्तौल से फायरिंग करना शुरू कर दिए। जेम्स ने रुचि को पकड़कर बाहर की तरफ कूद पड़े। तभी अचानक से दरवाजा बंद हो गया और अन्दर से एंथोनी के चिल्लाने की आवाज आ रही थी। जेम्स एक दम से उठा और उसने दरवाजा को खटखटाते हुए कहा
"मेरी ,रुक जाओ। हमारे पास सबूत हैं। एंथोनी अपनी पूरी जिंदगी तड़प तड़प कर गुजारेगा और बाद में उसे फांसी की सजा मिलेगी।"
तभी अचानक से दरवाजा खुल गया। एंथोनी का शरीफ पर नोचने के निशान थे। वह खून से लथपथ था और वह डर रहा था। जेम्स ने एंथोनी का गिरेबान पकड़ा और खड़ा किया और पुलिस की ओर फेंक दिया। अचानक जेम्स की नजर घर के अंदर पड़ी। जेम्स को मेरी और उसके दो बच्चे नजर आ रहे थे और वह सब खुश थे क्योंकि उनका बदला पूरा हो चुका था और थोड़ी ही देर में वे सब गायब हो गए।
यह देेेख रुचि ने जेम्स के कंधे को थपथपाते हुए कहा "गर्व है कि तुम मेरे पति हो।"
यह सुन जेम्स ने मुस्कराते हुए रुचि को गले लगा दिया।

Post a comment

0 Comments