.

हॉन्टेड होटल एंड मिस्ट्री ऑफ सेवन मर्डर -फाइनल केस । haunted hotel and mystery of seven murder-final case

"हॉन्टेड होटल एंड मिस्ट्री ऑफ सेवन मर्डर -फाइनल केस"
हॉन्टेड होटल एंड मिस्ट्री ऑफ सेवन मर्डर -फाइनल केस । haunted hotel and mystery of seven murder-final case

"आप से निवेदन हैं कि इस कहानी का पहला भाग और हॉन्टेड होटल एंड मिस्ट्री ऑफ सेवन मर्डर-केस 1 भी जरुर पढ़े जिस से आप को यह कहानी का भाग समझ आ सके।"

"मर्डर मिस्ट्री फाइनल केस"
जेम्स ने आधी रात को रुचि को जगाया और कहा "हमें अभी की अभी यहां से जाकर यहां के बारे में सब के सब जानकारी लेनी है। एक और इम्पोर्टेन्ट केस आया हैं। चिंता मत करो लीला यहां पर है। हम एक-दो दिन में आ जाएंगे।"
तभी सवेरे विवेक की मौत हो गई।
लीला ने कहा  "दरअसल पोस्टमार्टम के मुताबिक विवेक की मौत उसके ड्रिंक में जहर होने की वजह से हुई थी।" यह सुनकर विवेक के भाई ने कहा "भैया की खून के पीछे विनीता भाभी का हाथ हो सकता है।" यह सुनकर विनीता ने कहा "भला मैं तुम्हारे भैया को क्यों मारूंगी और वह तुम्हारे भैया के साथ साथ मेरे पति भी तो थे।" यह सुनकर विवेक के भाई समीर ने कहा "क्योंकि भैया ने आपको कंपनी के शेयर नहीं दिए।" तभी अचानक लीला  के फोन पर घन्टी बजी। जिसे सुन लीला वहां से चली गई। थोड़ी देर बाद लीला गुस्से में आई और उसने हेयर स्टाइलर पंकज को देख कहा "तुमने ही विवेक का खून किया है तुम्हारे इस शेविंग किट में यह जहरीली पिन पाई गई है और इतना ही नहीं तुम विनीता से प्यार करते थे तो तुम्हारे पास विवेक को मारने का एक अच्छा कारण भी था।" इसीलिए इन सब शक के चलते मैं तुम्हें इन्वेस्टिगेशन और इंटेरोगेशन के लिए हिरासत में लेते हूँ। शाम को अनिल की मौत हो गई। लीला ने कहा "इसकी मौत पोस्टमार्टम के मुताबिक जैस्मिन की महक से हुई हैं क्योंकि अनिल को जैस्मिन की महक से एलर्जी थी। इसी की वजह से उसके नाक और मुंह में सूजन हो गई और सांस ना देने की वजह से अनिल की मौत हो गई।" यह सुनकर अनिल की मंगेतर रानी ने कहा "हो ना हो इस सबके पीछे लोकेश उसी का ही हाथ है वह अनिल पर तरह-तरह के अपने नए-नए परफ्यूम्स छिटकते थे। अनिल ने उन्हें काफी बार मना किया है लेकिन लोकेश जी अनिल जी को डराने के लिए उनके मना करने के बावजूद भी उन पर वह परफ्यूम लगा देते थे। इन्हीं की वजह से एक बार अनिल की तबीयत खराब हो चुकी थी।" तभी अचानक  लीला के फोन पर घंटी बजी और लीला विवेक के भाई समीर की गर्लफ्रेंड मीरा के पास आई और कहा" तुमने ही अनिल की हत्या की है क्योंकि तुम्हारे कमरे से एक पेंटिंग मिली है। जिसमें से जैस्मिन की महक आ रही है और तुमने ही अनिल को अपने कमरे में बुलाया था। बताओ क्यो बुलाया था?"  यह सुनकर मीरा ने कहा  "दरअसल अनिल मेरा पहला बॉयफ्रेंड है और यह बात बस समीर  को ना बता दे इसीलिए मैंने उसी कमरे पर बुलाया था और हां मुझे पेंटिंग करने का शौक है लेकिन उसमें से जैस्मीन की महक कैसे आ रही है वह मुझे नहीं पता।" यह सुनकर लीला ने कहा मैं तुम्हें अभी के लिए हिरासत में लेती हूं।" ठीक एक घण्टे बाद सुनील की पत्नी की मौत हो गई। लीला ने कहा "ओह माय गॉड , इसकी मौत  पोस्टमार्टम के मुताबिक  इसके अगुठे पर जहरीली पिन चुभने की वजह से हुई।" तभी समीर ने कहा "विकास जी ने ही रमा को मारा होगा क्योंकि उन्हें सुनील जी पसन्द नही थे। वह तो उन्हें मारने की धमकी भी दी थीं। सुनील तो रहा नही तो रमा को ही मार दिया।" तभी लीला को फोन पर घन्टी बजी और लीला उसे देखने गई और उसने स्विमिंग टीचर केली को कहा "तुमने ही रमा को मारा हैं। तुमारे लॉकर में यह क्लिक वाला पेन मिला है जिसे लिखने के लिये ऊपर वाला स्विच दबाना पड़ता हैं। इस के ऊपर वाली बटन में एक छोटी सी पिन हैं। जो दबाते ही बाहर आती हैं। इस पर जहर लगा है और एक फॉर्म मिला है जिस में गवाह के तौर पर तुमने रमा के साइन लिए हैं। इसलिये मैं तुम्हे हिरासत में लेती हूँ।" ठीक एक और घण्टे में विकास के मौत की खबर आई। लीला ने कहा "इसकी मौत भी फॉर्क पेट मे घोंप कर हत्या की हैं।" यह सुन लोकेश की पत्नी मिना ने कहा 'जरुर , इस के पीछे आशा जी का हाथ हैं क्योंकि वह विकास को डिवोर्स देना चाहती थी। उन दोनों की हर रोज लड़ाई होती थी।" अचानक लीला के फोन पर घन्टी बजी। उसे देखने वह गई और गुस्से में लीला आई और उसने बार बॉय जैरी को बोला" तुमारे कमरे के ड्रा में यह खून से भरा फॉर्क मिला है इसलिये तुम्हे मैं हिरासत में लेती हूँ।"
जेम्स और रुचि जब आए यो उन्हें पता चला कि एक ही दिन में 5 मौत हो चुकी हैं। तभी जेम्स ने अगले दिन कहा "आज मेरा जन्मदिन हैं इसलिये मैं एक पार्टी देना चाहता हूँ।" सभी पार्टी में आये। सभी मायूस नजर आ रहे थे। सभी के चहेरे लटके हुए थे। तभी जेम्स ने एक व्यक्ति को देखा जो एक कोने में सब को देख मुस्कुरा रहा था। तभी जेम्स ने कहा "जी आप कौन?"
तभी उस व्यक्ति ने कहा "जी मै यहाँ का सिक्योरिटी इंचार्ज मार्क हूँ।"
यह सुन जेम्स  ने उसे अपने साथ खाना खाने के लिए बैठने को कहा।
रात को जेम्स ने चाकू लिया रूचि के पेट में घोंप दिया।
रुचि की एक तेज चीख़ निकल पड़ी। जिसे सुन सभी आ गए। तभी जेम्स ने देखा कि जमीन पर कुछ आवाज आ रही है जेम्स ने जल्द से जमीन को खोदने लगा। तभी उसे उस जमीन पर एक संदूक मिला जिस में काफी सारा धन और कीमती हीरे जेवरात थे।
जिसे देख सिक्योरटी इंचार्ज मार्क गुस्से में आग बबूला हो गया उसने अपनी चाकू लिया और जेम्स पर हमला करने की कोशिश की । लेकिन जेम्स को इस कि भनक लग गई उसने मार्क का हाथ पकड़ लिया और कहा "अरे अरे तो आप हैं इन सब के पीछे।"
तभी मार्क ने कहा "यह जेवरात और हीरे मेरे हैं और यह सब खून तो मैने किये हैं मैंने ही काला जादू कर सेवन मर्डरर को सात आत्माएं की बलि देने का वादा किया है और उसके बदले में उसे वह ढेर सारा धन मांगा है। तुम्हे यह सब एक ही खून पर कैसे मिल गए?"
जेम्स ने कहा "दरअसल यह ड्रामा मैंने इस होटल के इस कमरे मे इसीलिए किया है क्योंकि इसी जगह पर उस साइको मर्डर की मौत हुई थी और उसकी आत्मा यहीं पर है और मैं यह तो समझ रहा था कि कोई इस किसको कहीं और मोड़ने की कोशिश कर रहा है लीला तुम्हें फोन पर यह सब इंफॉर्मेशन इसीलिए दे रहा था ताकि कभी इसी पर शक आए नहीं। रुचि  तुम उठ जाओ।यह सब जेवरात और हीरे नकली हैं।"
लीला ने कहा "मुझे माफ़ कर देना जेम्स।"
यह सुन रुचि ने मुस्कुराते हुए लीला के कंधे पर हाथ रख दिया
जेम्स ने मार्क का कॉलर पकड़कर कहा "जब मुझे वह तेरा संदेश भरा कागज मिला था। तब मैंने गौर दिया कि खूनी जो भी है कलम को 2 इंच ऊपर से पकड़ कर और पेन को दबाते हुए लिखता है उसकी ऊपर एक आकृति बनाई तो पता चला कि वह खूनी तो दाहिने हाथ से लिखता है और पार्टी में जब मैंने तुम्हें अपने साथ खाने को कहा तो मैंने गौर किया कि तुम भी चम्मच को 2 इंच ऊपर से पकड़ कर दाहिने हाथ से खा रहे हो। तभी हमे तुम पर शक हुआ। तभी हमने यह प्लान बनाया। बताओ तुमने यह सब कियु किया?"
यह सब सुनकर मार्क ने कहा "तुमने बहुत गलत किया है दरअसल इस जगह पर 7 मर्डरर आत्मा का साया है और वह खूनी के साथ लुटेरा भी था उसने काफी धन लूटा था। अगर यह सब पूरा हो जाता है तो मुझे ढेर सारा धन मिलेगा और उसकी आत्मा यही  कैद रहेगी देखो वक्त निकल रहा है मुझे एक और खून करना ही होगा अगर यह नहीं हुआ तो उसकी आत्मा मुझे नहीं छोड़ेगी।"
यह सुनकर जेम्स ने कहा "मैं तुम्हें किसी को भी मारने नहीं दूंगा।"
अचानक ही मार्क की एक तेज चीख निकली "अअअअआ।"
उसका शरीर मे आग लग गई। तभी जेम्स ने पानी लिया और मार्क के ऊपर डाल दिया और मार के ऊपर लगी हुई आग अचानक से बुझ गई। आँख बंद कर अपने कोट के जेब से एक छोटी सी डायरी निकाल कर पढ़ने लगा और सभी को बाहर ले जाते हुए जेम्स ने माचिस लिया और उस कमरे को आग लगा दी। उस कमरे में से एक भयानक चीख निकली।
तभी जेम्स ने देखा कि एक काला साया आग की लपटों में भी साफ दिख रहा हैं और अचानक से वह गायब हो गया। कमरे की आग बुझा दी गई।
 तब जेम्स ने कहा " इस होटल पर जो भी आत्मा का  साया था उसका नाता इस कमरे से था। आखिरकार इस कमरे को जलाने से उसके शरीर को वो अंश जो अभी भी इस कमरे में था वह जल गया यानी कि वह यहां से चला गया।"
और मार्क को पुलिस को सौप दिया और जेम्स ने कहा "बाबू को छोड़ दो।"
बाबू ने आते ही जेम्स के पांव पकड़ लिए जेम्स ने उसे खड़ा कर मुस्कुरा दिया।
लीला ने जेम्स को कहा "मुझे माफ़ करना कि मै अपनी मर्जी पर उतर आई और आपकी बात ना मानी।"
जेम्स ने मुस्कुराते हुए कहा "अरे कोई बात नहीं।"
लीला ,जेम्स,रुचि तीनो के चहरे पर मुस्कुराहट आ गई।


Post a comment

0 Comments